• Subhasish Mishra

World Wide Web क्या है in Hindi

World Wide Web

WWW क्या है? (what is world wide web in Hindi),कभी ना कभी तो आपके मन में ये सवाल जरूर आया होगा। इसका कारन यह है की आज कल हम लगभग पूरा दिन Internet से जुड़े रहते हैं और www ये सब्द आपके नजर ने हर जगह आता है। जैसे की उदहारण की तोर पर हमारे ही wesite www.hinditechnocard.com देख लीजिये।


तो चलिए जानते हैं की ये world wide web के बारे मे और क्योँ ये www हर वेबसाइट के आगे लिखा जाता है? और भी बोहत सारे terms जैसे web server, HTML ,website अदि जो की आज के internet के ज़माने में जान ना बेहद जरुरी है।


WWW(world wide web) क्या है? What is World Wide Web in Hindi


WWW का full form है world wide web, जिसे आमतौर पर web भी कहा जाता है, एक information space है जहां documents और अन्य वेब संसाधन जैसे image,video,audio आपस में hyperlink से जुड़े रहते हैं। इन सब की पहचान uniform resource locator(URL, जैसे http://www.hinditechnocard.com/) द्वारा की जाती है।


world wide web के संसाधनों को web server नामक एक सॉफ़्टवेयर एप्लीकेशन के अंदर stoe किया जाता है। इसे Hypertext transfer protocol (HTTP) के जरिये उपयोगकर्ताओं द्वारा एक web browser नामक सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन द्वारा access किया जा सकता है।

World wide web technology कैसे काम करता है ?

वेब में image,text,audio,video जैसे कई प्रकार के resource होते है। लेकिन इन सबको web page के जरिये ही एक्सेस किया जा सकता है। ये web page एक rule को अनुसरण करते हुए Hypertext markup language(HTML) में लिखा जाता है। इन web page पर कई ऐसे text या image होते हैं जो दूसरे page का URL को रखते है जो उन page पर navigate करने मई मदद करते हैं उसे hyperlink कहा जाता है।


एक ही प्रकार के कई pages जो एक domain name के अंदर होते हैं वो सब मिलकर एक website कहलाते हैं जिनमे image ,video ,audio भी शामिल होते हैं। यही वेबसाइट world wide web पर जहाँ store होता है उसे web server कहते हैं । जब कोई अपने ब्राउज़र में URL डालता है तब request इसी webserver को जाता है और बदले में ये उस URL से सम्बंधित webpage को web browser में दिखाता है। वेबसाइट, जानकारीपूर्ण मनोरंजन, वाणिज्यिक, सरकारी, या गैर सरकारी कारणों के असंख्य के लिए प्रदान की जा सकती है।


एक URL ही एक वेबसाइट को इंटरनेट पर स्थित करने मई मदद करता है।URL का 3 भाग होता है।

  • Protocol

  • Domain name

  • Path

यह process एक model को आधार करके चलते है जिसे request response मॉडल कहा जाता है। इस process में साधारणतः यह होता है की जब कोई अपने web browser में कोई भी वेबसाइट का url डालता है तो internet के जरिये world wide web को एक request जाता है। उस request में एक वेबसाइट का url होता है जो की www में एक web server में store होता है। जैसे ही सर्वर के पास request पहुँचता है वो तुरंत उस url को IP address में बदल देता है और उस address में store होनेवाला वेबसाइट को ढूंढ़ता है।


अगर कोई भी website उस address पर नहीं मिलता है तो सर्वर एक error हमारे ब्राउज़र में दिखता है जिसे हम 404 page not found के नाम से जानते हैं। लेकिन अगर वेबसिए मिलजाता है तो अब सर्वर url में दिएगए path को उस वेबसाइट के अंदर ढूंढ़ता है और उस path में जो webpage होता है वही page को response के रूप में user के computer पर दिखता है।बिलकुल ऐसे ही अगर किसी page के अंदर hyperlink होता है और उसपे कोई click करता है तो server इसी process के माध्यम से hyperlink से जुड़े web page को web browser में load करता है।

वर्ल्ड वाइड वेब की बिसेसताएं (Features of world wide web)

  • HyperText Information System

  • Cross-Platform

  • Distributed

  • Open Standards an Open Source

  • Web Browser: p[rovides a single interface to many services

  • Dynamic,Interactive & Evolving

  • Graphical Interface

HyperText Information System: वेब पेज मे जो text,image,audio,video सब एक दूसरे से hyperlink के जरिये एक दूसरे से जुड़े होते हैं।

Distributed: world wide web में store किये गए websites कहीं ना कही एक दूसरे से जुड़े हुए है। हलाकि हर वेबसाइट के information सामान नहीं होते फिर भी hyperlink के जरिये एक एक दूसरे से जुड़ सकते हैं।

Cross-platform: web में स्टोर किये गये वेबसाइट वेबसाइट किसी भी operating system और किसी भी hardware पर access किया जा सकता है।

Open Standards an Open Source:इसका मतलब यह है की कोई भी कहीं भी access कर सकते हैं बिना पैसे दिए।

Graphical Interface:आज कल हर website user friendly और interactive होता है इसीलिए इनको इस्तमाल करना बोहत आसान होता है।

वर्ल्ड वाइड वेब का इतिहास (History of world wide web)

Tim Berners Lee and CERN Computer


1989 में अंग्रेजी इंजीनियर और कंप्यूटर वैज्ञानिक Sir Timothy John Berners-Lee ने वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार किया था। उन्होंने 1990 में Geneva, Switzerland के पास CERN में नौकरी करते हुए पहला वेब ब्राउज़र बनाया था। ब्राउज़र को 1991 में CERN के बाहर उयलब्ध कराया गया था, पहले जनवरी 1991 में शुरू होने वाले अन्य research institute के लिए और फिर अगस्त 1991 में आम जनता के लिए उपलब्ध कराया गया था।


जब बिभिन्न कंप्यूटर से तथ्य लाना मुश्किल होने लगा तो इन्होने hypertext का concept लाया था। Tim Berners Lee ने एक कामकाजी वेब के लिए आवश्यक सभी उपकरणों का निर्माण किया था, पहला वेब ब्राउज़र world wide web browser था, जो एक वेब संपादक के साथ-साथ पहला वेब सर्वर भी था।उन्होंने 3 महत्वपूर्ण चीज़ो को बनाया था जिसके ऊपर आज का पूरा internet निर्वेर करता है।

  • Uniform Resource Locator(URL)

  • Hypertext Markup Language

  • Hypertext Transfer Protocol

इंटरनेट के वैश्विक विकास के लिए सेवाओं के लिए बर्नर्स-ली को रानी एलिजाबेथ द्वितीय द्वारा 2004 में सम्मानित किया गया था।

Internet Vs World wide web

कई बार हमको ऐसा लगता है की Internet और www दोनों अलग चीज़े हैं। लेकिन ये बिलकुल गलत है। ये दोनों अलग है।


एक से अधिक system (computer /mobile device) जब आपस में तथ्य का आदानप्रदान करते हैं उसे Internet कहते हैं। लेकिन world wide web एक storage space है जहाँ अनगिनत तथ्य स्टोर करके रखा गया है इनको हम internet के जरिये access कर सकते हैं। हम सेसे कह सकते है की world wide web को access करने के लिए internet बस एक माध्यम है। बिना www के इंटरनेट चल सकता है। लेकिन बिना इंटरनेट के हम web को access नहीं करसकते है।


उदहारण के तोर पर जब हम इंटरनेट इस्तमाल करके अपने mobile या कंप्यूटर में कोई game खेलते हैं तब web की कोई जरुरत नहीं है। लेकिन जब हम facebook या फिर google पर कुछ search करते है तब इंटरनेट की अबस्यकता जरूर होती है।


Webserver


Web server साधारणतः एक कंप्यूटर ही है , लेकिन यह केवल एक specific कार्य करने के लिए इस्तमाल किया जाता है।हम जो भी वेब में search करते हैं वो पहले एक Request की तरह वेब सर्वर में जाता है। वेब सर्वर में कई सारे वेबपेजे store होते हैं। उन pages में से हो भी हमारे भेजे गए request के match करता है उसे web server तुरंत हमारे ब्राउज़र में भेज देता है। ये process कुछ milliseconds के अंदर होता है इसीलिए हमें इसके बारे में पता नहीं चलता।


Web page​


वेबपेज एक वेबसाइट द्वारा प्रदान की गई जानकारी का एक विशिष्ट संग्रह है। एक वेबसाइट में आमतौर पर कई वेब पेज होते हैं जो एक साथ सुसंगत रूप से जुड़े होते हैं। "Web page" नाम एक किताब में एक साथ बंधे कागज के पन्नों का एक रूपक है।


वेब पेज का मुख्य तत्व Hyper Text Markup Language (HTML) में लिखी गई एक या एक से अधिक text files हैं। कई वेब पेज dynamic व्यवहार के लिए Javascript कोड का उपयोग करते हैं और design के लिए Cascading Style Script (CSS) कोड का उपयोग करते हैं। Images, videos, और अन्य multimedia फ़ाइलें भी अक्सर वेब पेजों में होती हैं।


प्रत्येक वेब पेज की पहचान एक अलग Uniform Resource Locator (URL) द्वारा की जाती है। जब user किसी URL को अपने ब्राउज़र में इनपुट करता है, तो उस पृष्ठ के तत्व वेब सर्वर से डाउनलोड होते हैं। ब्राउज़र तब सभी तत्वों को उपयोगकर्ता के डिवाइस पर एक इंटरैक्टिव विज़ुअल प्रतिनिधित्व में बदल देता है।


server-side वेबसाइट के दृष्टिकोण से, दो प्रकार के वेब पेज हैं: static और dynamic। Static pages user के साथ interactive नहीं हैं। एक बार जब वे लोड हो जाते हैं तो आप केवल उन्हें देख सकते हैं। आप उन पर कोई ऑपरेशन नहीं कर सकते।लेकिन dynamic pages के मामले में यह user के संचालन के अनुसार बदल जाएगा।उदाहरण के लिए यदि आप किसी कॉलेज की वेबसाइट खोलते हैं, तो homepage(first page) सभी suser के लिए समान होता है। लेकिन जब आप अपना result देखना चाहते हैं तो यह अलग-अलग रोलनंबर के लिए अलग-अलग दिखाई देगा। Home page static है और result page dynamic है।


Web page दो भागों में विभाजित है, एक है frontend और दूसरा backend है।Web browser पर user जो देख रहा है वह frontend है। वे code जो server के लिए request भेजने के लिए उपयोग किए जाते हैं, जो frontend के माध्यम से collect किए जाते हैं, backend कहलाते हैं।HTML एक frontend language है। यह बहुत सारी backend language हैं लेकिन उनमें से कुछ PHP, Python, Java आदि हैं।


Web browser


एक वेब ब्राउज़र world wide web पर जानकारी तक पहुँचने के लिए एक सॉफ्टवेयर अनुप्रयोग है। जब कोई उपयोगकर्ता किसी विशेष वेबसाइट से एक वेब पेज का अनुरोध करता है, तो वेब ब्राउज़र एक वेब सर्वर(web srver) से आवश्यक सामग्री प्राप्त करता है और फिर स्क्रीन पर page प्रदर्शित करता है।

वेब ब्राउज़र का उपयोग कई उपकरणों पर किया जाता है, जिसमें डेस्कटॉप, लैपटॉप, टैबलेट और स्मार्टफोन शामिल हैं। 2019 में, अनुमानित 4.3 बिलियन लोगों ने एक ब्राउज़र का उपयोग किया। [4] सबसे अधिक उपयोग किया जाने वाला ब्राउज़र Google Chrome है, जिसमें सभी उपकरणों पर 64% हिस्सेदारी है, इसके बाद Safari 17% है।

HTML

HTML(Hypertext Markup Language) एकमात्र language है जिसके बिना web page कभी भी बनाया नहीं जा सकता है। क्योँ की हम सबको यह पता है की world wide web HTTP(Hypertext transfer protocol) का इस्तमाल करके तथ्य आदानप्रदान करता है और HTML ही केवल Hypertext transfer protocol को support करता है।

Conclusion

उम्मीद है की ये पोस्ट world wide web क्या है पसंद आयी होगी और world wide web के बारे में आपको जानने को मिला होगा। अगर मैने कही कुछ बताना भूल गया या फिर गलत बताया है तो निचे कमेंट कर के जरूर बताएं।

0 views
  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube
  • Instagram

©2020 by HindiTechnoCard.