• Subhasish Mishra

Web hosting क्या है और कहाँ से ख़रीदे ?

Updated: Jun 13

वेब होस्टिंग क्या है? हम web hosting कहाँ से ख़रीदे ?वेब होस्टिंग कैसे काम करता है? अगर आप खुद का website बनाना चाहते हैं तो ये सवाल आपके मन में जरूर आये होंगे। में इस पोस्ट में आपको बोहत ही आसान तरीके से ये सरे सवालों का हल बताऊंगा। चाहे आप एक student हो या blogger हो या फिर अपने business के लिए वेब होस्टिंग लेना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट को पढ़ने के बाद सही फैसला लेने मै आपको कोई भी परेशानी नहीं होगी।


होस्टिंग के बारेमे जानने से पहले आपको यह पता होना जरुरी है की web design क्या है ? क्योँ की आप अगर सही तरीके से web design को बिना समझे वेब होस्टिंग ख़रीद लेंगे तो बाद में आपको बोहत सारि परेशानी आएगी और आपका पैसा बर्बाद हो जायेगा। न तो आप एक user friendly वेबसाइट बना पायेंगे न ही कोई आपके website पर visit करेगा।


इस लेख में आपको ये भी बताऊंगा की वेब होस्टिंग कितने प्रकार के होते हैं ? कोनसा होस्टिंग आपके लिए अच्छा रहेगा ? आप business के लिए कोनसा होस्टिंग लेना चाहिए ? अदि। ज्यादातर जो लोग blogging कर रहे हैं उन्हें ये सबके बारे में पता रहता है। तो चलिए हम भी ये सब सवालों के जवाब जानते हैं।


वेब होस्टिंग क्या है?(What is web hosting in Hindi)



वेब होस्टिंग एक ऐसी सेवा है जो organization और व्यक्तियों को इंटरनेट पर एक वेबसाइट या वेब पेज पोस्ट करने की स्वी प्रदान करती है। एक वेब होस्ट, या वेब होस्टिंग सेवा प्रदाता, एक संस्था है जो इंटरनेट पर देखी जाने वाली वेबसाइट या वेबपेज के लिए आवश्यक तकनीकों और सेवाओं को प्रदान करता है। वेबसाइटों को होस्ट या संग्रहीत किया जाता है, special computer पर जिन्हें सर्वर कहा जाता है। जब इंटरनेट उपयोगकर्ता आपकी वेबसाइट को देखना चाहते हैं, तो उन्हें केवल अपने ब्राउज़र में आपका website url या domain name टाइप करना होता है। तब उनका कंप्यूटर आपके सर्वर से जुड़ जाता है और आपके वेबपेज ब्राउज़र के माध्यम से उन तक पहुंच जाता है।


अधिकांश होस्टिंग कंपनियों को आपके साथ होस्ट करने के लिए अपने डोमेन की आवश्यकता होती है। यदि आपके पास एक डोमेन नहीं है, तो होस्टिंग कंपनियां आपको एक खरीदने में मदद करेंगी।


हम आपने general computer को भी एक वेब होस्ट बना सकते हैं। लेकिन अगर ट्रैफिक बढ़ता है तो ऐसे होस्ट किसी काम का नहीं है।और अगर हम अपने कंप्यूटर को होस्ट बनाते हैं तो उसे 24 x 7 online रखना पड़ेगा जिस के कारन हमारा कंप्यूटर ख़राब हो सकता है। इसी वजह से हम अपने खुद के कंप्यूटर को होस्ट न बनाके एक कंपनी से खरीदते है क्योँ की वो लोग हमारे वेबसाइट को बिना कोई problem के हमारे users को प्रदान करते हैं।


वेब होस्टिंग कैसे काम करता है ?

जब हम वेबसाइट बनाते हैं तो उसके अंदर कई तरह की files होते हैं जैसे html ,css ,image,video अदि। Web hosting का मुख्य काम है इन्ही files को store करना और जरुरत के समय user तक पहुँचाना। अब आप ये सोच रहे होंगे की ये सब तो ठीक है मगर ये सब होता कैसे है? web hosting काम कैसे करता है ?चलिए देखते हैं।


मान लीजिये हमारे पास एक वेबसाइट है जैसे Hindi Techno Card . ये हमारे वेबसाइट का नाम है लेकिन जरा सोचिए कोई और वेबसाइट का नाम भी Hindi Techno Card हो सकता है जैसे हम इंसानो के खेत्र में होता है। अगर उस नाम से कोई चिठ्ठी ए तो देनेवाला संदेह में पड़जाएगा की वो चिठ्ठी किसको दीआ जए ? अब वो ढूंढेगा उस इंसान का पत्ता जो की हर इंसान के लिए अलग होता है , और उसी पत्ते पे चिठ्ठी पहुंचाएगा। बिलकुल उसी तरह हमे पहले एक पत्ता (address) खरीदना पड़ेगा जिसे हम domain name कहते हैं। Domain name हर वेबसाइट के लिए अलग होता है।


अब मान लीजिये चिठ्ठी देनेवाला जब address पे पहुँचता है वहां पे कोई घर नहीं है तो वो चिठ्ठी किसको देगा ? ठीक उसी तरह केवल domain name होने से कोई फ़ायदा नहीं है उसके साथ हमको लेना पड़ेगा जगह जहाँ हम अपने files को स्टोर करेंगे। इसी जगह को हम web server कहते हैं।


अब domain name को web server के साथ जोड़ना होगा और हमारा वेबसाइट को वेब सर्वर पर store करना पड़ेगा तब जाके हमारा वेबसाइट को लोग access कर पायेंगे।इस पुए process को web hosting कहते हैं। जब user अपने browser में हमारा domain name टाइप करेगा जैसे https://www.hinditechnocard.com/ वो हमारे सर्वर से जुड़ जायेगा और हमारे वेबसाइट को देख पायेगा।


वेब होस्टिंग कहां से ख़रीदे ?

बहुत सारे company है जो web hosting सेवा provide करते हैं। इनमे से कुछ free है और कुछ पैसे भी लेते हैं। Google खुद एक फ्री होस्टिंग सेवा देता है जिसे हम blogspot के नाम से जानते है। लेकिन मेरा राय यह है की अगर आप अपना carrier बनाने केलिए या business करने के लिए web hosting लेना चाहते हैं तो आप पैसे दे कर ख़रीदे।,क्योँ की इनमे कुछ सुविधाए होते हैं जो free hosting में नहीं होते हैं। में आपको कुछ company के नाम बताता हूँ जहाँ आप अच्छे होस्टिंग पा सकते हैं।

  1. Godaddy

  2. Hostgator

  3. Bluehost

  4. Bigrock

  5. Wix

  6. Hostinger

कोन सी कंपनी से होस्टिंग ख़रीदे ?

वैसे तो मैंने आपको 6 options दे दिया है। और भी बोहत सारे companies available है जहाँ से आप web hosting खरीद सकते हैं। पर उससे पहले आपको कुछ features का ख्याल रखना होगा जो होस्टिंग कंपनी द्वारा जरूर दिए जाने चाहिए।

Disk Space

सभी होस्टिंग कंपनियाँ एक निश्चित मात्रा में disk space प्रदान करती हैं जिसका उपयोग आप अपनी वेब फ़ाइलों को संग्रहीत करने के लिए कर सकते हैं। यह आपको अनुमान लगाना होगा की आपको कितना storage space चाहिए। अनुमान लगाने का सबसे आसान तरीका है, आप अपने वेबसाइट को छोटे छोटे बिभाग में विभाजित्त करदिजिये। इससे आपको बेहतर पता चलेगा की आपको कितनी disk space चाहिए। उमेसा unlimited storage space वाला होस्टिंग चुनने की कोसिस कीजिये। इससे आपको कभी भी storage ख़तम होने का खतरा नहीं रहेगा।

FTP Access

आपके द्वारा अपने कंप्यूटर पर अपने वेब पेज बनाए जाने के बाद, आपको उन फ़ाइलों को अपने वेब सर्वर पर स्थानांतरित करना होगा। FTP(File Transfer Protocol) के उपयोग से फाइलें सर्वर में स्थानांतरित हो जाती हैं।आज कल इसकी ज्यादा जरुरत नहीं पड़ रहा क्योँ की सबकुछ CMS (content management system) से हो रहा है।

Bandwidth

जब कोई आपके website को access करना चाहे तो एक हर 1 second में आपके वेबसाइट का जितना data ब्राउज़र पैर load होता है उसे bandwidth कहते हैं। वेबसाइट का speed मुख्यतः इसपे ही निर्वर करता है। Bandwidth जितना ज्यादा हो उतना अच्छा होता है क्योँ की अगर अगर आपके वेबसाइट पर बोहत सरे लोग एक साथ visit कर रहे है और आपका bandwidth कम है तो site down हो सकता है।

Uptime & Downtime

आपके website जितना समय access करने के लिए उपलब्ध रहता है उसे uptime कहते हैं। कभी कभी कुछ कारनो से अगर हमारा वेबसाइट खुल नहीं पता। तो जितना टाइम हमारा site down रहता है उसे हम downtime कहते हैं। जो कंपनी हमे ज्यादा uptime(99.99%) दे उसका hosting खरीदना चाहिए।

Email account

Email account लगभग हर hosting कंपनी का common feature होता है। ये आपको अपने वेबसाइट के हिसाब से एक अलग ईमेल बनाने में मदद करता है। email account तीन मुख्य प्रकार हैं: POP3, forwarding और aliases।

Server Location

यह एक बोहत महत्वपूर्ण factor है जिसका प्रभाव आपके वेबसाइट पर पड़ता है।आप अपने वेबसाइट को जिस area के लिए बना रहे हैं वहां पर आपका web server जरूर होना चाहिए। इससे आपके website का speed कम नहीं होता है।

Customer Support

आप जो भी web hosting खरीदना चाहते है सबसे पहले उसका customer service सही है की नहीं जाँच कर लीजिये।आप Google में जाकर दूसरे पोस्ट देखेंगे तो वो लोग आपको अलग अला कोम्पनिओ के नाम बताएंगे क्योँ की वो लोग उसी कंपनी का affiliate marketing करके पैसे कमाते हैं। लेकिन आप पहले जाके जाँच कीजिये की किसका service अच्छा है उसके बाद आपके जरुआत के हिसाब से होस्टिंग ख़रीदे।


अब तक हमे ये पता लगचुका है की web hosting kya hai और web hosting कहाँ से ख़रीदे। अब चलिए देखते है web hosting ke prakar .


वेब होस्टिंग के प्रकार - Types of Web Hosting in Hindi

वेब होस्टिंग की दुनिया में, कई विकल्प हैं जिनके जरिये वेब पर आपकी साइट host कर सकते हैं । उनमें से प्रत्येक सीधे वेबसाइट के मालिकों की जरूरतों को पूरा करता है - चाहे वे बड़े या छोटे हों। वे सभी आपकी वेबसाइट के लिए storing space के रूप में कार्य करते हैं। लेकिन उन सब को नियंत्रण, तकनीकी ज्ञान की आवश्यकता, server speed , और विश्वसनीयता की मात्रा से भिन्न किया गया है। Hosting 6 प्रकार के होते हैं

  1. Shared Hosting

  2. Virtual private server(vps) Hosting

  3. Dedicated server Hosting

  4. Cloud Hosting

  5. Managed Hosting

  6. Colocation

1.Shared Hosting

Shared hosting वह जगह है जहां आपकी वेबसाइट को एक एकल सर्वर पर संग्रहीत किया जाएगा जहां अन्य कई अन्य वेबसाइट संग्रहीत हैं। एक Shared hosting योजना के साथ, सभी डोमेन समान सर्वर संसाधनों, जैसे कि RAM (Random Access Memory) और CPU (Central Processing Unit) को share करते हैं। हालाँकि, क्योंकि सभी संसाधन साझा किए जाते हैं, Shared hosting योजनाओं की price अपेक्षाकृत कम होती है, जिससे वे अपने शुरुआती चरणों में वेबसाइट के मालिकों के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प बन जाते हैं।


Shared Hosting किसके लिए बेहतर है ?

ज्यादातर मामलों में, beginners को अपनी वेबसाइट को होस्ट करने का सबसे सरल तरीका Shared hosting है; इस बात की परवाह किए बिना कि क्या आप एक छोटे व्यवसाय के स्वामी, एक सामुदायिक समूह, या ब्लॉग पर रहने की इच्छा के साथ घर पर रहते हैं, आपकी साइट वेब पर उपलब्ध होगी। Shared hosting प्लान अक्सर कई उपयोगी टूल जैसे वेबसाइट बिल्डर्स, वर्डप्रेस होस्टिंग और ईमेल क्लाइंट की क्षमता के साथ आते हैं।

2.Virtual private server(vps) Hosting

VPS होस्टिंग सबसे अलग है क्योंकि प्रत्येक वेबसाइट को सर्वर पर अपने स्वयं के स्थान के भीतर होस्ट किया जाता है, हालांकि यह उपयोगकर्ताओं को अलग अलग resources प्रदान करता है लेकिन एक ही server share करता है जो जो केवल virtually अलग होते है। हालांकि VPS होस्टिंग वेबसाइट स्वामियों को अधिक अनुकूलन और संग्रहण स्थान प्रदान करती है, फिर भी वे अविश्वसनीय रूप से उच्च ट्रैफ़िक स्तर का उपयोग करने में सक्षम नहीं होते हैं, जिसका अर्थ है कि साइट का प्रदर्शन अभी भी सर्वर पर अन्य साइटों से प्रभावित हो सकता है।


VPS hosting किसके लिए बेहतर है ?

VPS hosting plan उन वेबसाइट के लिए आदर्श है जिन्हें अधिक नियंत्रण की आवश्यकता है, लेकिन इसके लिए एक समर्पित सर्वर की आवश्यकता नहीं है।आमतौर पर, VPS होस्टिंग का उपयोग उन वेबसाइट द्वारा किया जाता है जो समर्पित होस्टिंग चाहते हैं, लेकिन उनके पास आवश्यक तकनीकी ज्ञान नहीं है। VPS होस्टिंग समर्पित होस्टिंग के नियंत्रण के साथ साझा होस्टिंग के cost लाभ प्रदान करता है।

3.Dedicated server Hosting

Dedicated होस्टिंग वेबसाइट मालिकों को सर्वर पर सबसे अधिक नियंत्रण देती है जो उनकी वेबसाइट पर संग्रहीत होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि सर्वर आपके द्वारा विशेष रूप से किराए पर लिया जाता है और केवल आपकी वेबसाइट उसी पर संग्रहीत है। इसका मतलब है कि आपके पास सम्पूर्ण server पर access होता है, इसलिए आप सुरक्षा से लेकर ऑपरेटिंग सिस्टम तक सब कुछ नियंत्रित कर सकते हैं जो आप चलाते हैं। ये सबके लिए आपको अलग से पैसे देने पड़ते हैं।


Dedicated hosting किसके लिए बेहतर है ?

Dedicated hosting सबसे महंगी वेब होस्टिंग विकल्पों में से एक है। आमतौर पर, वे वेबसाइट के मालिकों द्वारा उच्च स्तर की वेबसाइट के साथ उपयोग किए जाते हैं, और जिन्हें अपने सर्वर के पूर्ण नियंत्रण की आवश्यकता होती है।

4.Cloud Hosting

Cloud hosting एक बोहत ही advanced web hosting है। वेब होस्टिंग का , इसका मतलब है कि कई कंप्यूटर एक साथ काम करना और संयुक्त कंप्यूटिंग संसाधनों का उपयोग करके एप्लिकेशन चलाना । यह एक होस्टिंग है जो एक नेटवर्क के माध्यम से काम करता है और कंपनियों को उपयोगिता जैसे कंप्यूटिंग संसाधनों का उपभोग करने में सक्षम बनाता है।


यह उपयोगकर्ताओं को अपने hardware प्रयोग किये बिना वेबसाइट को नियोजित करने की अनुमति देता है। जिन वेबसाइट का उपयोग किया जाता है, वे सर्वर में खराबी के कारण किसी भी downtime की संभावना को कम करते हुए कई सर्वरों में नियोजित हो सकते हैं ।क्लाउड-आधारित होस्टिंग स्केलेबल है, जिसका अर्थ है कि आपकी साइट समय के साथ विकसित हो सकती है, जितने संसाधनों की आवश्यकता होती है उतने का उपयोग करते हुए, और जबकि वेबसाइट के मालिक को केवल उनकी आवश्यकता होती है।

5.Managed Hosting

अधिकांश होस्टिंग पैकेज जो आपको ऑनलाइन मिलेंगे, managed hosting होते है। होस्टिंग कंपनियां हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर setup और configuration, configuration, maintenance, hardware replacement, technical support, patching, updating और और monitoring जैसी तकनीकी सेवाएं प्रदान करती हैं। Managed होस्टिंग के साथ, हार्डवेयर , ऑपरेटिंग सिस्टम और standardised applications के दिन-प्रतिदिन के प्रबंधन को देखता है।


हालाँकि, जब वेब होस्टिंग की बात आती है, तो इसे चुनने के लिए कई अलग-अलग विकल्प होते हैं, लेकिन यह एक ऐसी योजना को चुनने के लिए नीचे आता है, जो आपकी आवश्यकताओं के अनुरूप हो। प्रत्येक योजना अलग-अलग समूहों की विशिष्टताओं को पूरा करती है और यह एहसास करती है कि किसी वेबसाइट पर आपकी ज़रूरतें क्या हैं, यह सुनिश्चित करने में आपकी मदद करेगी कि आप अपने और अपने व्यवसाय के लिए सही योजना का चयन कर रहे हैं।

6.Colocated

अपने घर मे या एक private data centre में सर्वर रखने के बजाय, आप किसी colocation centre में storage space किराए पर लेकर अपने उपकरणों को रख सकते हैं। colocation centre आपके सर्वर को power, bandwidth, IP address और cooling systems प्रदान करेगा। Storage space रैक और cabinet में किराए पर लिया जाता है।Colocation एक सामान्य कार्यालय सर्वर कमरे की तुलना में बहुत कम cost पर बोहत अच्छे bandwidth करता है।


क्या मैं अपने comuter पर अपनी वेबसाइट होस्ट कर सकता हूं?

हाँ कर सकते हो। लेकिन ऐसा करने से पहले, कुछ points हैं जिन पर आपको ध्यान देना चाहिए:

  • आपको पता होना चाहिए कि अपने कंप्यूटर पर WWW सर्वर सॉफ्टवेयर कैसे सेट करें। यह एक सॉफ्टवेयर है जो इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को आपके कंप्यूटर पर वेब फ़ाइलों तक पहुंचने की अनुमति देता है।

  • आपका इंटरनेट सेवा प्रदाता आपके घर के कंप्यूटर पर आपकी चलने वाली वेबसाइटों का समर्थन करता हो।

  • आपको अपने बैंडविड्थ की जांच करनी होगी।

  • आपके कंप्यूटर को हर समय online रखना होगा। हर बार जब आप इसे बंद या रिबूट करते हैं, तो लोग आपकी वेबसाइट access नहीं कर पाएंगे।

  • आपकी वेबसाइट धीरे-धीरे लोड होगी क्योंकि होम इंटरनेट कनेक्शन वेब पेज की सेवा के लिए डिज़ाइन नहीं किए गए हैं।

Linux vs Windows web hosting in Hindi

जब आप होसिंग खरीदने जायेंगे आपको linux और windows करके दो options मिलेंगे। Linux एक free और open source ऑपरेटिंग सिस्टम है और windows का licence खरीदने के लिए पैसे लगते हैं। इसीलिए linux hosting free होता है और windows hosting के लिए पैसे लगते हैं। लेकिन linux क्वे तुलना में windows का security ज्यादा होता है। आप अपने आबस्यक अनुसार दोनों में से एक चुन सकते हैं।


Conclusion

मुझे उम्मीद है ये पोस्ट web hosting क्या है ? को पढ़ कर आपको आपके सारे सवालों का जवाब मिलगया होगा। फिर भी अगर आपके मन में कोई संदेह है तो निचे कमेंट करके बताये।अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई है तो जरूर like और share कीजिये।

0 views
  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube
  • Instagram

©2020 by HindiTechnoCard.