Software Engineering a layered technology क्योँ कहा जाता है?

इस पोस्ट में software engineering a layered technology kyoun kaha jaata hai in Hindi के बारे में बताने जा रहा हूँ। एक software develop करने से पहले हमे ये जरूर पता होना चाहिए की एक software develop होने से पेहले कौनसी layers में हो कर गुजरता है।तो चलिए जानते हैं की यह layered technology क्या है।


साधारणतः software development process मे 4 layers होते हैं।

  1. Quality Focus

  2. Process

  3. Methods

  4. Tools

software engineering a layered technology kyoun kaha jaata hai in Hindi

1.Quality Focus:

यह software Engineering का सबसे महत्वपूर्ण layer है। आप दुनिया में कोई भी product देख लीजिये उनमे जो सबसे जरुरी होता है वो है Quality. जित्तना अच्छा product का quality होगा उतना ही ज्यादा user को पसंद आएगा। इसीलिए जब product बनाया जाता है सबसे पहले quality का ख्याल रखा जाता है। इस layer को software development का Bedrock भी कहा जाता है।


Quality Focus के अंदर भी कई सारे parameters को देखा जाता है। जैसे


Degree Of Goodness: यह parameter तय करता है की software के quality कितनी सही और यह user को कितना पसंद आएगा।


Correctness: इस में यह पता लगाया जाता है की software को जिस मकसद स