• Subhasish Mishra

Kisan Suryoday Yojana 2020, Apply कैसे करे, Eligibility क्या है?

आज के इस Article में हम आपको Kisan Suryoday Yojana के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है। देश को आत्मनिर्भर बनाने और विकास की राह पर चलने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। लेकिन कृषि के विकास और विकास में मुख्य भूमिका निभाने वाले किसानों के बिना देश का विकास असंभव है। इसीलिए केंद्र और राज्य सरकारें अपने राज्य के किसानों की आय दोगुनी करने और राज्य के विकास के लिए कई कल्याणकारी परियोजनाएं शुरू कर रही हैं।


प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना

गुजरात सरकार ने हाल ही में Kisan Suryoday Yojana की घोषणा की, जो खेती के लिए दिन में बिजली की आपूर्ति प्रदान करे। इस योजना के तहत, किसानों को सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक बिजली मिलेगी। इसके लिए सरकार ने 2023 तक ट्रांसमिशन इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने के लिए 3,500 करोड़ के बजट को मंजूरी दी है। इस अवसर पर, पीएम मोदी ने कहा कि जब किसानों को सुबह के दौरान 3 Stages की बिजली मिलेगी अर्थात सुबह 5 बजे से 9 बजे तक मिलेगी।


इसके अलावा, पीएम मोदी गिरनार में एक रोपवे परियोजना का भी उद्घाटन करेंगे, जो वैश्विक पर्यटन मानचित्र पर उभरेगा। इसमें शुरू में आठ लोगों को ले जाने की क्षमता के साथ 25-30 केबिन होंगे। यह रोपवे मात्र 7.5 मिनट में 2.3 किलोमीटर की दूरी तय करेगा। पर्यटक इस रोपवे पर यात्रा के दौरान गिरनार पर्वत के आसपास की प्राकृतिक सुंदरता को देख पाएंगे।


तीसरी योजना के तहत, प्रधान मंत्री यू.एन. मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी एंड रिसर्च सेंटर से जुड़े बाल हृदय अस्पताल का भी उद्घाटन करेंगे और सिविल अस्पताल, अहमदाबाद में टेलीकार्डियोलॉजी के लिए एक मोबाइल एप्लिकेशन का उद्घाटन करेंगे। संयुक्त राष्ट्र मेहता संस्थान विश्व स्तरीय चिकित्सा बुनियादी ढांचे और चिकित्सा सुविधाओं से लैस कुछ अस्पतालों में से एक है। UN मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी का विस्तार 470 करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है। परियोजना के पूरा होने के बाद, यहां बिस्तरों की संख्या 450 से बढ़कर 1251 हो जाएगी। यह संस्थान देश का सबसे बड़ा एकल सुपर-स्पेशिएलिटी कार्डिएक शैक्षणिक संस्थान भी बन जाएगा और दुनिया के सबसे बड़े एकल सुपर-स्पेशिएलिटी कार्डिएक अस्पतालों में से एक होगा।



इसके साथ ही, संस्थान के भवन को भूकंपरोधी बनाया गया है। फायर हाइड्रेंट सिस्टम और फायर मिस्ट सिस्टम जैसी सुरक्षा सुविधाएं प्रदान की गई हैं। इसके अनुसंधान केंद्र में वेंटिलेटर, IABP, हेमोडायलिसिस, ECMO, आदि के साथ देश में पहला उन्नत कार्डियक आईसीयू होगा। संस्थान में 14 ऑपरेशन केंद्र और सात कार्डिएक कैथीटेराइजेशन लैब भी होंगे।


यदि आप Kisan Suryoday Yojana को लागू करना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए है। तो इसीलिए हमने दिए हुए सभी निर्देशों को ध्यान से पढ़ें और ऑनलाइन आवेदन पत्र को लागू करने के लिए नीचे दिए गए जानकारी का पालन करें।


Kisan Suryoday Yojana के लिए Apply कैसे करे?


राज्य के इच्छुक लाभार्थी जो इस Kisan Suryoday Yojana के तहत सिंचाई के लिए बिजली प्राप्त करने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, परंतु अभी तक इसकी मुख्य website की घोषणा नही की गई है, यानी कि अभी सिर्फ यह scheme launch हुई है। इसका उपयोग करने के लिए आपको कुछ समय तक इसका इन्तेजार करना पड़ सकता है।


हमारे देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 24 अक्टूबर को गुजरात मे 3 बेहतरीन प्रमुख Scheme का उद्घाटन किया है। और इसमे सबसे अच्छी बात यह है कि उन्होंने गुजरात के किसानों के लिए एक अहम कदम उठाया है। मोदी जी ने किसानों के लिए Kisan Suryoday Yojana का उद्घाटन किया है, और यह काफी अच्छी बात है, इससे गुजरात के किसानों का काफी फायदा होने वाला है। यह Scheme तो launch हो गयी है परंतु जैसे ही गुजरात सरकार इस गुजरात Kisan Suryoday Yojana के तहत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेगी वैसे ही हम आपको जानकारी देंगे। इस वेबसाइट पर हम आपको रेगुलर update देते रहते है। चलिए अब हम आपको Kisan Suryoday Yojana की Eligibility के बारे में भी बता देते है।


Kisan Suryoday Yojana की Eligibility क्या है?


नीचे के points में हम आपको Kisan Suryoday Yojana की Eligibility के बारे में बता रहे है, ताकि आपको इसके बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।



  • यह Scheme सिर्फ गुजरात के किसानों के लिए बनाई गई है।

  • इस Scheme का लाभ केवल गुजरात के किसान ही उठा सकते है।


तो हमने आपको किसान सूर्योदय योजना की Eligibility के बारे में तो बता दिया है। चलिए अब हम आपको इसके लाभ भी बता देते है। क्योंकि इस योजना के लाभ आपको पता होना अति आवश्यक है।


Kisan Suryoday Yojana के लाभ


Kisan Suryoday Yojana के लाभ हम आपको नीचे के points में बता रहे है।

  • किसानों को सुबह के समय यानी सुबह पांच बजे से रात नौ बजे तक तीन stages की बिजली मिलेगी।

  • आज गुजरात के लगभग 80 प्रतिशत घरों में नल से पानी पहुंच गया है।

  • योजना के तहत लगभग 234 ट्रांसमिशन लाइनें स्थापित की जानी हैं।

  • राज्य सरकार ने 2023 तक इस योजना के तहत ट्रांसमिशन बुनियादी ढांचा स्थापित करने के लिए 3500 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।


हमने आपको किसान सूर्योदय योजना के लाभ तो बता दिए है, तो चलिए अब हम आपको इस योजना की कुछ मुख्य विशेषताएं भी बताते है।


Kisan Suryoday Yojana की मुख्य विशेषताएं



  • इस योजना के तहत, किसान सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक बिजली की आपूर्ति कर सकेंगे।

  • राज्य सरकार ने 2023 तक इस योजना के तहत ट्रांसमिशन बुनियादी ढांचे को स्थापित करने के लिए a 3,500 करोड़ का बजट तय किया है।

  • 234 ,66 -Kilowatt 'ट्रांसमिशन लाइनें, कुल लंबाई के साथ 3490 सर्किट किलोमीटर (CKM) परियोजना के तहत स्थापित किया जाएगा।

  • एक दशक पहले सौर ऊर्जा के लिए एक व्यापक नीति बनाने वाला गुजरात देश का पहला राज्य था।

  • शेष जिलों को 2022-23 तक चरण-वार तरीके से कवर किया जाएगा।


तो हमने आपको इस Article में Kisan Suryoday Yojana के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। हम आशा करते है कि आप लोगो को आज का यह लेख अच्छा लगा होगा। यदि आप लोगो को यह लेख अच्छा लगा हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और social media site पर भी share कर सकते है।